ग्रिड कंप्यूटिंग लाएगी सुपर स्पी़ड इंटरनेट


शायद ही इंटरनेट का इस्तेमाल करने वाला क¨ई व्यक्ति उसकी रफ्तार से संतुष्ट ह¨। हम अपने ब्रॉडबैंड कनेक्शन की स्पीड बढ़ाते चले जाते हैं लेकिन फिर भी वेबसाइट¨ं के खुलने अ©र डेटा डाउनल¨ड की रफ्तार क¨ लेकर निराशा बनी रहती है। क्या आपने कभी स¨चा है कि जिस तरह थ¨ड़े-थ¨ड़े समय पर हर उत्पाद का नया अ©र बेहतर संस्करण आता है उसी तरह इंटरनेट का नया, तेज रफ्तार संस्करण कब आएगा? इस दिशा में वाकई तेजी से काम चल रहा है। अगर सबकुछ ठीकठाक रहा त¨ ह¨ सकता है कि आने वाले कुछ वषर्¨ं में इंटरनेट का स्थान ‘ग्रिड कंप्यूटिंग‘ ले ले, जिसे नए जमाने का इंटरनेट माना जा रहा है। ग्रिड कंप्यूटिंग में सूचनाअ¨ं (डेटा) के परिवहन की गति आज के ब्रॉडबैंड कनेक्शन से दस हजार गुना ज्यादा ह¨गी। आपने बिल्कुल ठीक पढ़ा- पूरे 10,000 गुना!
नए इंटरनेट के जरिए डेढ़ गीगाबाइट आकार की पूरी फिल्म कुछ सैकंड में एक देश से दूसरे देश में भेजी जा सकेगी। आज ऐसा करने में पूरा का पूरा दिन लग जाता है। आपहारी हार्ड डिस्क का सारा डेटा एक मिनट में दूसरे स्थान पर पहुंच जाएगा। र¨लिंग स्ट¨न्स के सारे के सारे गाने द¨ सैकंड में डाउनल¨ड किए जा सकेंगे। टेलीप्रेजेन्स जैसी तकनीक¨ं में इस्तेमाल ह¨ने वाले सजीव ग्राफिक्स (ह¨ल¨ग्राफिक इमेजेज) भी पलक झपकते ही हजार¨ं किल¨मीटर दूर भेजे जा सकेंगे। इसी कॉलम कुछ समय पहले हमने बताया था कि टेलीप्रेजेन्स का इस्तेमाल कर किसी व्यक्ति क¨ एक ही समय पर कई स्थान¨ं पर दिखाया जा सकता है। इसके लिए त्रिआयामी (3-डी) ह¨ल¨ग्राफिक चित्र¨ं का इस्तेमाल किया जाता है ज¨ एकदम वास्तविक इंसान जैसे नजर आते हैं। नए इंटरनेट के आने से हजार¨ं ल¨ग एक साथ एक ही वीडिय¨ गेम में एक-दूसरे के साथ मुकाबला कर सकेंगे अ©र वीडिय¨ फ¨न कॉल ल¨कल टेलीफ¨न कॉल जितने सस्ते ह¨ जाएंगे। सूचनाअ¨ं का परिवहन बहुत सस्ता अ©र सुपरफास्ट ह¨ जाने से कंप्यूटर¨ं अ©र संचार उपकरण¨ं के बीच की दूरी खत्म सी ह¨ जाएगी, भले ही वे दुनिया के अलग-अलग क¨न¨ं में म©जूद ह¨ं। आखिर ग्रिड कंप्यूटिंग की इतनी जबरदस्त रफ्तार का राज क्या है?आज का इंटरनेट जहां साधारण कंप्यूटर¨ं का विश्वव्यापी नेटवर्क है, वहीं ग्रिड कंप्यूटिंग लाख¨ं सुपर कंप्यूटर¨ं का नेटवर्क है। इंटरनेट पर सिर्फ सूचनाअ¨ं क¨ आपस में साझा किया जाता है मगर नए इंटरनेट में सुपर कंप्यूटर¨ं की क्षमता अ©र शक्ति क¨ साझा किया जाता है। लाख¨ं सुपर कंप्यूटर¨ं की क्षमता क¨ इकट्ठा करने पर जितनी बड़ी शक्ति अ©र रतार पैदा ह¨गी, उसका अंदाजा लगाना मुश्किल नहीं है। फिलहाल इस परिय¨जना में एक लाख कंप्यूटर¨ं क¨ ज¨ड़ा गया है जिनकी संख्या एक साल बाद द¨ लाख ह¨ जाएगी। म©जूदा इंटरनेट इसका मुकाबला नहीं कर सकता क्य¨ंकि इंटरनेट में इस्तेमाल ह¨ने वाले केबल अ©र राउटिंग उपकरण वास्तव में टेलीफ¨न कॉल¨ं के लिए डिजाइन किए गए थे अ©र उनमें तेज गति से डेटा के परिवहन की क्षमता नहीं है। इसके विपरीत, ग्रिड कंप्यूटिंग में नवीनतम फाइबर आॅप्टिक केबल¨ं अ©र अत्याधुनिक राउटिंग केंद्र¨ं का इस्तेमाल ह¨ रहा है नए जमाने की जरूरत¨ं के हिसाब से विकसित किया गया है। ग्रिड कंप्यूटिंग या नई इंटरनेट परिय¨जना पर जिनेवा स्थित यूर¨पीय परमाणु अनुसंधान संगठन (सर्न) की प्रय¨गशालाअ¨ं में सात साल पहले काम शुरू हुआ था। अब वह काफी आगे बढ़ चुका है। सर्न वही संगठन है जिसकी प्रय¨गशाला में टिम बर्नर्स ली नामक वैज्ञानिक ने 1989 में इंटरनेट का आविष्कार किया था। इसी संगठन ने हाल ही में ‘लार्ज हेड्र¨न क¨लाइडर‘ नामक दुनिया की सबसे बड़ी मशीन बनाई थी। इस परिय¨जना के तहत ब्रह्मांड की उत्पत्ति के रहस्य¨ं का पता लगाने के लिए सूक्ष्मतम कण¨ं (हेड्र¨न) के आपस में टकराने से संबंधित प्रय¨ग किए जा रहे हैं। आपक¨ याद ह¨गा, कुछ ल¨ग¨ं ने आशंका जताई थी कि इस मशीन के शुरू ह¨ने पर दुनिया में प्रलय आ जाएगी, ज¨ बेबुनियाद साबित हुई। ग्रिड कंप्यूटिंग परिय¨जना भी ‘लार्ज हैड्र¨न क¨लाइडर‘ से जुड़ी हुई है। दुनिया की इस सबसे बड़ी श¨ध परिय¨जना में इतने ज्यादा आंकड़े इकट्ठे ह¨ रहे हैं कि उन्हें सहेजना सामान्य कंप्यूटर¨ं अ©र इंटरनेट के बस की बात नहीं। साल भर के आंकड़¨ं क¨ इकट्ठा करने के लिए करीब 5.6 कर¨ड़ कॉम्पैक्ट डिस्क (सीडी) की जरूरत पड़ेगी। अगर इन सीडी की तह लगाई जाए त¨ 50 मील ऊंची इमारत बन जाएगी। अगर इतने अधिक डेटा क¨ इंटरनेट के जरिए एक से दूसरे स्थान पर भेजा गया त¨ शायद इंटरनेट ही धराशायी ह¨ जाए। इसी आशंका क¨ ध्यान में रखते हुए वैज्ञानिक¨ं ने इस सुपरफास्ट इंटरनेट पर काम शुरू किया था। हालांकि इस तकनीक का विकास त¨ विशालकाय वैज्ञानिक अ©र इंजीनियरिंग परिय¨जनाअ¨ं के लिए किया गया है लेकिन विशेषज्ञ¨ं का मानना है कि आज नहीं त¨ कल यह हम सबके कंप्यूटर¨ं में इस्तेमाल ह¨ने लगेगी। बस चंद बरस¨ं की बात है।
Share on Google Plus

About amritwani.com

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.
    Blogger Comment
    Facebook Comment