उज्जैन का वातावरण बहुत अच्छा, सरकार ने उज्जैन की तस्वीर बदल दी केन्द्रीय सिंहस्थ समिति के अध्यक्ष ने संतों से भेंट कर उन्हें शाल-श्रीफल से सम्मानित किया

उज्जैन 03 मई। उज्जयिनी की धरा के वासी बहुत अच्छे हैं। यहां का वातावरण बहुत सुखद है। इस बार सरकार ने उज्जैन की तस्वीर बदल दी है। शासन ने बहुत पैसा खर्च कर यहां स्थायी काम किये हैं। यहां की सुन्दर सड़के, शिप्रा तट के किनारे सुन्दर घाट, लाइटिंग रात में मानो शहर स्वर्ग जैसा लगने लगा है। उज्जैन की साफ-सफाई व्यवस्था बेहतर की गई है। बारह साल के बाद आदमी पहली बार उज्जैन आया वह भूल-भुलइया हो गया है। पहले के उज्जैन और अब उज्जैन में बहुत अंतर हो गया है। राज्य शासन ने सिंहस्थ मेला क्षेत्र के साथ-साथ उज्जैन शहर को खूबसूरत बनाने में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ी है। व्यवस्थाएं बेहतर की गई है। केन्द्रीय सिंहस्थ समिति के अध्यक्ष श्री माखनसिंह के समक्ष नृसिंहघाट रोड स्थित सोहम आश्रम के स्वामी श्री विवेकानन्दजी महाराज ने इस आश्य के विचार व्यक्त किये। उन्होंने भेंट के दौरान अवगत कराया कि इस बार सिंहस्थ में बहुत अच्छे काम हुए हैं। बिजली की बहुत शानदार व्यवस्था की गई है। पेयजल, शौचालय आदि की भी अच्छी व्यवस्था हुई है। महाराज जी ने कहा कि बढ़िया व्यवस्था से उनका मन प्रसन्न है। 2004 के सिंहस्थ में पहले उनके आश्रम के समीप गंदगी हुआ करती थी जो इस नहीं है और वहां पर शौचालयों का निर्माण कर दिया गया है। सबसे बढ़िया बात और हुई है कि इस बार मां शिप्रा नदी में नर्मदा का जल आया है। स्नान की शानदार व्यवस्था है। उन्होंने प्रधानमंत्री की तारीफ करते हुए कहा कि उनकी नीयत साफ है, उनमें कोई लोभ लालच नहीं है। प्रारम्भ ठीक है तो कोई किसी का कुछ नहीं बिगाड़ सकता। आपने कहा कि जो शक्ति साधना में लगाना चाहिए वह अब वैभव में लग रही है। संतों में कभी प्रदर्शन नहीं होता था पर अब प्रदर्शन होने लगा है। जनता के पैसे का दूरूउपयोग नहीं होना चाहिए। वैभव न करते हुए उन पैसों से अस्पताल, स्कूल खोलना चाहिए ताकि जनता का भला हो सकें। श्री माखनसिंह ने स्वामी श्री विवेकानंदजी महाराज, स्वामी श्री सत्यानंदजी महाराज का शाल-श्रीफल भेंट सम्मानित किया। केन्द्रीय सिंहस्थ समिति के अध्यक्ष श्री माखनसिंह ने इसके बाद मंगलनाथ झोन में विष्णुसागर, रामजनार्दन मंदिर के समीप बने बाबा हठयोगी महाराज हरिद्वार वाले से भेंट कर उन्हें शाल-श्रीफल से सम्मानित किया गया। उन्होंने सिंहस्थ मेला क्षेत्र में की गई व्यवस्थाओं को ठीक बताया। महाराज जी ने कहा कि उन्हें पेयजल के लिए बड़ी टंकी उपलब्ध करवायी जाये। इस पर श्री माखनसिंह ने झोन के झोनल मजिस्ट्रेट श्री नरेन्द्र सूर्यवंशी को दूरभाष पर बुलवाकर पानी की टंकी उपलब्‍ध कराने के निर्देश दिये। इस अवसर पर श्री तरूण मुरारी बापू उपस्थित थे। श्री माखनसिंह ने ध्वज पूजन कर ध्वजारोहण भी किया। इसके बाद श्री माखनसिंह खाकचौक के समीप इस्कॉन कैम्प में महंत श्री दीनाबंधुदासजी महाराज से भेंट कर आशीर्वचन लिया। आपने यहां पर बने फूलडोल में अद्भूत आध्यात्मिक अनुभव को देखा। इस अवसर पर श्री विभाष उपाध्याय, श्री राकेश अग्रवाल आदि उपस्थित थे।
Share on Google Plus

About Eye Tech News

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.
    Blogger Comment
    Facebook Comment