जिला स्तरीय इंस्पायर अवार्ड विज्ञान प्रदर्शनी का शुभारम्भ हुआ बच्चों ने प्रदर्शित किये एक से बढ़कर एक विज्ञान के मॉडल

उज्जैन। जिला स्तरीय इंस्पायर अवार्ड विज्ञान प्रदर्शनी का शुभारम्भ मंगलवार को किया गया। स्थानीय शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय माधव नगर में आयोजित इस कार्यक्रम के शुभारम्भ अवसर पर अतिथियों ने प्रदर्शनी का अवलोकन कर बच्चों द्वारा प्रस्तुत विज्ञान मॉडलों की सराहना करते हुए बच्चों की हौसला अफज़ाई की। इस तीन दिवसीय प्रदर्शनी में स्कूली बच्चों द्वारा एक से बढ़कर एक विज्ञान के मॉडल प्रदर्शित किये गये हैं। इसमें आमजन की जरूरत और जीवन के विकास की आवश्यकता के मद्देनजर विभिन्न विषयों पर आधारित मॉडल बच्चों द्वारा बनाये गये हैं।
बच्चों में वैज्ञानिक दृष्टिकोण विकसित करेगी
इंस्पायर अवार्ड विज्ञान प्रदर्शनी के शुभारम्भ अवसर पर महापौर श्रीमती मीना जोनवाल ने सम्बोधित करते हुए कहा कि यह प्रदर्शनी बच्चों के वैज्ञानिक दृष्टिकोण और आमजन के जीवन में आसानी लाने के लिये किये गये प्रयासों को परिलक्षित करती है। जरूरत इस बात की है कि बच्चों को सतत प्रोत्साहित किया जाये। बच्चे अपने परिवार और देश का नाम रोशन करें, इसके लिये वे अपनी अन्वेषणात्मक क्षमता का सतत विकास करते हुए विज्ञान के क्षेत्र में आगे बढ़ें।
स्कूलों में हो आवश्यक संसाधन
नगर निगम सभापति श्री सोनू गेहलोत ने कहा कि डॉ.एपीजे अब्दुल कलाम सहित कई प्रख्यात वैज्ञानिक हमारे देश में पैदा हुए हैं। बच्चे इन वैज्ञानिकों से प्रेरणा लेकर विज्ञान की दिशा में आगे बढ़ें। स्कूलों में छोटे-छोटे बच्चों के मस्तिष्क में वैज्ञानिक शोध के लिये प्रेरणा के साथ-साथ आवश्यक संसाधन उपलब्ध कराये जाने चाहिये। इस दिशा में हमारा शासन लगातार प्रयासरत भी है। उन्होंने बच्चों से आव्हान किया कि लगन और मेहनत के साथ वैज्ञानिक शोध की दिशा में अपनी क्षमता को प्रदर्शित करें। आवश्यकता इस बात की है कि देश में बेहतरीन वैज्ञानिकों की श्रृंखला सतत विद्यमान रहे। बच्चे नवीनता के साथ देश के विकास में अपनी वैज्ञानिक भूमिका का निर्वाह करें।
अधिकाधिक बच्चे हों सम्मिलित
जिला पंचायत उपाध्यक्ष श्री भरत पोरवाल ने अपने उद्बोधन में कहा कि जिले के स्कूलों से अधिकाधिक संख्या में बच्चे इंस्पायर अवार्ड प्रदर्शनी में प्रतिवर्ष सम्मिलित हों। इस प्रकार के प्रयासों से जिले के बच्चों की वैज्ञानिक प्रतिभा निखर कर सामने आयेगी। कार्यक्रम को श्री प्रकाश चित्तौड़ा और पार्षद श्रीमती दुर्गा शक्तिसिंह चौधरी ने भी सम्बोधित किया। प्रारम्भ में जिला शिक्षा अधिकारी श्री संजय गोयल ने इंस्पायर अवार्ड आयोजन पर प्रकाश डाला।
90 विज्ञान मॉडल बच्चों द्वारा प्रस्तुत किये गये
विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय भारत सरकार तथा स्कूल शिक्षा विभाग मध्य प्रदेश द्वारा आयोजित इंस्पायर अवार्ड विज्ञान प्रदर्शनी में उज्जैन जिले के स्कूली बच्चों द्वारा मंगलवार को 90 विज्ञान मॉडल प्रस्तुत किये गये। आज के समय की महती आवश्यकता ऊर्जा के वैकल्पिक साधनों के विकास को दृष्टिगत रखते हुए बच्चों ने इस सन्दर्भ में कई बेहतरीन विज्ञान मॉडल प्रदर्शित किये हैं। पंथपिपलई स्कूल के विद्यार्थी लेखराज ने हैण्ड पम्प से किस प्रकार विद्युत उत्पादन किया जा सकता है, इसका मॉडल प्रस्तुत किया। मोहनपुरा की विद्यार्थी ज्योति ने ऑटोमैटिक पॉवर हाउस, चिकली की 9वी की छात्रा रोशनी ने सौर ऊर्जा संयंत्र के मॉडल बनाये हैं। कई बच्चों ने प्रदर्शनी में स्मार्ट विलेज के मॉडल भी प्रस्तुत किये हैं। टकवासा की कक्षा 10वी की छात्रा अर्चना, जान्दला के छात्र जुनैद तथा पूजा ने अपने स्मार्ट विलेज मॉडल्स में बताया है कि एक उत्कृष्ट गांव कैसा होना चाहिये।
ग्राम तालोद के 11वी के छात्र भरत चौधरी ने हाइड्रोलिक लिफ्ट, करोंद की पूजा ने रुफ वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम, उज्जैन के बुधवारिया स्कूल के छात्र नागेश राठौर ने यातायात प्रबंधन, ग्राम इटावा के छात्र लखन ने पवन चक्की, जैथल के पंकज ने एयर फिल्टर, माकड़ोन की आराधना ने पॉल्यूशन कंट्रोल मॉडल बनाये हैं। ग्राम बालोदालक्खा की 11वी कक्षा की छात्रा अलका हरोड़ ने अपने मॉडल के जरिये बताया कि स्पीड ब्रेकर के जरिये किस प्रकार ऊर्जा उत्पादित होकर स्ट्रीट लाइट प्रकाशित की जा सकती है। इसके अलावा खेड़ाखजूरिया के बालिका कविता द्वारा ओवन, केटिया रामराज ने सांसद आदर्श ग्राम, माकड़ोन की किरण ने सौर मण्डल तथा डगवासा की अर्चना ने भी स्मार्ट विलेज के मॉडल प्रस्तुत किये।
Share on Google Plus

About Eye Tech News

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.
    Blogger Comment
    Facebook Comment