आपके हाथों को निर्माण एवं सृजन में लगाएं, अब भटकना बंद करें, सरकार देगी रहने का स्थान, मुख्यमंत्री श्री चौहान ने देवास में घुमक्कड़, अर्धघुमक्कड़ एवं विमुक्त जातियों के प्रशिक्षण सह सम्मेलन में कहा

देवास । सदियों से आप लोग भटकते आ रहे हैं। अब भटकना बंद करें। एक स्थान पर निवास करें, सम्मानजनक रोजगार करें, बच्चों को पढ़ाएं तथा अपने हाथों को निर्माण एवं सृजन में लगाएं। सरकार आपके रहने के लिए प्लॉट, मकान बनाने के लिए सहायता, रोजगार के लिए ऋण, बच्चों की पढ़ाई के लिए सारी सुविधाएं दिलाएगी।
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज शुक्रवार
को संभाग के देवास जिला मुख्यालय पर विमुक्त, घुमक्कड़, अर्धघुमक्कड़, जनजातियों के कल्याण के लिए संचालित योजनाओं के प्रशिक्षण कार्यक्रम एवं सम्मेलन में ये विचार प्रकट किए। कार्यक्रम में विमुक्त, घुमक्कड़, अर्धघुमक्कड़, जनजाति राज्य मंत्री श्रीमती ललिता यादव, पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री श्री सुरेन्द्र पटवा, स्कूल शिक्षा मंत्री श्री दीपक जोशी, सांसद श्री मनोहर ऊंटवाल, विमुक्त, घुमक्कड़, अर्धघुमक्कड़, जनजाति अध्यक्ष श्री नारायण बंजारा, देवास जिले के सभी विधायकगण, संभागायुक्त डॉ रवीन्द्र पस्तोर, घुमक्कड़ जाति सचिव श्री सचिन सिन्हा, कलेक्टर आशुतोष अवस्थी आदि उपस्थित थे।
आज का दिन आपके नाम
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने विमुक्त, घुमक्कड़, अर्धघुमक्कड़, जनजातियों को दिए गए अपने आत्मीय संबोधन में कहा कि आज का दिन मैंने आप के नाम किया है। आज आप मेहमान हैं तथा सरकार मेजबान है। आप लोगों ने मुझे पगड़ी बांधकर सबसे बड़ा सम्मान दिया है। मैं आपके मान, सम्मान तथा पगड़ी की शान को जाने नहीं दूंगा। आज आप लोगों से बात करूंगा तथा आप की हर समस्या का समाधान करूंगा। आज पूरी सरकार आपके पास आपके कल्याण के लिए आई है। हमारा प्रयास रहेगा कि आप सभी समाज में पूरे सम्मान का जीवन यापन कर सकें तथा अपनी भावी पीढ़ी को आगे ले जा सकें।
बच्चों को पढ़ाऐं, खर्चा सरकार देगी
श्री चौहान ने कहा कि आप सभी आज प्रण लें कि अपने बच्चों को अवश्य पढ़ाएंगे। पढ़ाई का खर्चा सरकार वहन करेगी। सरकारी स्कूलों में सभी प्रकार की सुविधाएं दी जा रही हैं। बारहवी कक्षा में 75 प्रतिशत अंक लाने पर सरकार लैपटॉप देगी, महाविद्यालय में स्मार्ट फोन देगी तथा आईएएस, आईपीएस, डॉक्टर, इंजीनियर आदि की पढ़ाई करने के लिए प्रशिक्षण की व्यवस्था के साथ ही बड़े संस्थानों की फीस भी सरकार भरगी। तकनीकी शिक्षा विभाग को निर्देश दिए गए हैं कि आप लोगों के बच्चों को विभिन्न रोजगारों में प्रशिक्षण के लिए आईटीआई में व्यवस्था करे। वर्तमान में आप लोगों के लिए प्रदेश में 140 छात्रावास संचालित हैं, आवश्यकता होने पर और छात्रावास खोले जाएंगे।
अब अपराधी नहीं “कर्मयोगी” कहलाएंगे
मुख्यमंत्री ने कहा कि आप लोगों में कुछ जातियों के कुछ लोग अभी भी अपराधिक प्रवृत्ति के कृत्य करते हैं, जिससे उन जातिरयों को ही अपराधी कहा जाता है, परन्तु आज से आप सभी प्रण लें कि कोई भी व्यक्ति आपराधिक कृत्य नहीं करेगा। आज से आपमें से किसी को भी कोई अपराधी नहीं बुलाएगा बल्कि “कर्मयोगी” पुकारेगा।
परिचय पत्र बनाए जाएंगे, मिलेंगी सभी सुविधाएं
मुख्यमंत्री ने कहा कि आप सभी के प्रदेश के सभी जिलों में परिचय पत्र बनाए जाएंगे। इस संबंध में सभी कलेक्टर्स को निर्देश दिए जा रहे हैं। इसके बाद आप सभी को वे सारी सुविधाएं मिलेंगी जो पिछड़े एवं गरीब वर्ग के लोगों को मिलती हैं। आप लोगों को 1 रूपये किलो में गेहूं, चावल एवं नमक मिलेगा, आवास बनाने के लिए प्लॉट मिलेगा, प्लॉट पर घर बनाने के लिए 1 लाख 20 हजार रूपये का ऋण तथा शौचालय के लिए 12 हजार रूपये मिलेंगे। रोजगार के लिए ऋण देंगे जिसमें 15 प्रतिशत अनुदान मिलेगा तथा 5 प्रतिशत ब्याज की राशि भी सरकार भरेगी। ऋण के लिए बैंक को गारंटी सरकार की ओर से दी जाएगी।
विपदा पर मिलेगी आर्थिक सहायता, अजा/जजा/पिछड़ा वर्ग में शामिल होंगे
मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार की ओर से आकस्मिक मृत्यु पर 2 लाख रूपये, प्राकृतिक आपदा से मृत्यु पर 4 लाख तथा सामान्य मृत्यु पर 25 हजार रूपये की सहायता उपलब्ध कराई जाएगी। बस्तियों में सड़क, पानी आदि की सभी बुनियादी सुविधाएं सरकार उपलब्ध कराएगी। उन्होंने कहा कि अब विमुक्त, घुमक्कड़ एवं अर्धघुमक्कड़ जातियां सामान्य जातियों की सूची में शामिल नहीं होंगी बल्कि उन्हैं अजा, अजजा अथवा पिछड़ा वर्ग की जातियों की सूची में शामिल किया जाएगा। उन्होंने यह घोषणा भी कि शीघ्र ही विमुक्त, घुमक्कड़ एवं अर्धघुमक्कड़ जातियां के अभिकरण में एक अध्यक्ष बनाया जाएगा तथा उसे मंत्री का दर्जा दिया जाएगा।
5 संकल्प दिलाए
सम्मेलन में मुख्यमंत्री ने विमुक्त, घुमक्कड़ एवं अर्धघुमक्कड़ जातियों के उपस्थित प्रत्येक व्यक्ति को 5 संकल्प दिलाए। कोई अपराध नहीं करेगा, कोई नशा नहीं करेगा, बच्चों को पढ़ाएंगे, बेटियों की इज्जत करेंगे, सफाई एवं स्वच्छता रखेंगे तथा इसके लिए हर घर में शौचालय बनाएंगे।
इस समाज की सेवा ही सच्ची सेवा है
स्वागत भाषण में सांसद श्री मनोहर ऊंटवाल ने कहा कि विमुक्त, घुमक्कड़ एवं अर्धघुमक्कड़ समाज वाकई में जरूरतमंद हैं तथा इनकी सेवा ही सच्ची सेवा है। उन्होंने पहली बार इस तरह के अनूठे आयोजन के लिए मुख्यमंत्री को धन्यवाद दिया। विमुक्त, घुमक्कड़ एवं अर्धघुमक्कड़ जनजाति विभाग मंत्री श्रीमती ललिता यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री न केवल गरीबों और पिछड़ों की सेवा करते हैं, अपितु सभी को ऐसा करने के लिए प्रेरित करते हैं। प्रदेश की जनता के साथ उनका आत्मीय रिश्ता है। उन्होंने मांग की की प्रदेश के सभी जिलों में विमुक्त, घुमक्कड़ एवं अर्धघुमक्कड़ जातियां के सर्वे का कार्य शीघ्र पूरा कर लिया जाए। इन वर्गों के लिए और छात्रावास खोले जाएं।
208 कार्यों का शिलान्यास तथा 164 का लोकार्पण
कार्यक्रम स्थल पर ही मुख्यमंत्री ने 19 करोड़ 75 लाख 52 हजार रूपयों के 208 कार्यों का शिलान्यास तथा 40 करोड़ 89 लाख 5 हजार रूपये के 164 कार्यों का लोकार्पण किया। उन्होंने विमुक्त, घुमक्कड़ एवं अर्धघुमक्कड़ जातियां के प्रतिनिधियों को मंच पर सम्मानित भी किया। कार्यक्रम में विभिन्न योजनाओं के 200 हितग्राहियों को लाभान्वित किया गया।
दिव्यांगों को मिलीं चलित दूकानें
सम्मेलन की एक बड़ी विशेषता यह रही कि इसमें मुख्यमंत्री ने दिव्यांग हितग्राहियों को चलित दूकानें प्रदान कीं। इन्हें ट्राइसिकिल पर इस प्रकार बनाया गया है कि दिव्यांग आराम से इन पर दूकान की सामग्री रखकर विक्रय कर सकते हैं। इन विशिष्ट दूकानों में लक्ष्मी कटलरी सेंटर, वीर अर्जुन फ्रूट शॉप सम्मेलन में आकर्षण्‍ा का केन्द्र रहे।
ई रिक्शा में बैठकर प्रदर्शनी का अवलोकन
मुख्यमंत्री ने स्वरोजगार योजना के अंतर्गत हितग्राहियों का ई रिक्शा वितरित किए। उन्होंने स्वयं हितग्राही भारत सेंधवा के ई रिक्शा पर बैठकर कार्यक्रम स्थल पर विभिन्न विभागों द्वारा लगाई गई प्रदर्शनी का अवलोकन किया।
Share on Google Plus

About Eye Tech News

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.
    Blogger Comment
    Facebook Comment