20-20 मैच की तरह लें ओडीएफ को । खाचरौद जनपद को 20 दिन में खुले में शौच से मुक्त कराने का लक्ष्य

उज्जैन । कलेक्टर श्री संकेत भोंडवे ने कहा है कि 20-20 क्रिकेट की तरह खुले में शौच से मुक्त कराने के कार्य को भी जल्द से जल्द पूरा करें। उन्होंने कहा कि 26 जनवरी तक खाचरौद जनपद को ओडीएफ (खुले में शौच से मुक्त) करने की चुनौती सबके सामने है। उन्होंने इस सिलसिले में आज जनपद की नागदा एवं खाचरौद तहसील की ग्राम पंचायतवार समीक्षा की तथा खाचरौद तहसील में कार्य की प्रगति नहीं आने पर असंतोष व्यक्त किया। कलेक्टर ने कहा कि एक घर-एक शौचालय का लक्ष्य पूरा होना चाहिये तथा ओडीएफ होने के बाद भी सतत निगरानी रखते हुए गांव को निरन्तर खुले में शौच से मुक्त रखने की जिम्मेदारी का निर्वहन भी किया जाना होगा। कलेक्टर ने कहा कि अगली बैठक अब गांव स्तर पर ही होगी और वे कोटवार पंजी का निरीक्षण कर यह पता लगायेंगे कि गांव में किस-किस अधिकारी ने आकर ग्रामीणों को समझाईश दी है। कलेक्टर ने आज खाचरौद जनपद में पंचायत सचिवों, पंचायत समन्वयकों, ग्राम रोजगार सहायकों, सहायक विकास विस्तार अधिकारियों, उपयंत्रियों एवं विकास खण्ड स्तर के अधिकारियों की बैठक लेकर खुले में शौच से मुक्त कराने के अभियान की समीक्षा की। बैठक में जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती रूचिका चौहान, खाचरौद एसडीएम श्री गोपाल सिंह वर्मा, नागदा एसडीएम श्रीमती ऋजु बाफना, तहसीलदार श्री विवेक सोनकर एवं श्री वर्मा मौजूद थे।
शौचालय नहीं बनाया तो नौकरी जायेगी
बैठक के दौरान कलेक्टर के संज्ञान में आया कि खाचरौद में कई आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं, सहायिकाओं, कोटवारों, मध्याह्न भोजन के रसोईयों के घरों में शौचालय नहीं हैं और वे खुले में शौच के लिये जा रहे हैं। शासकीय तंत्र से जुड़े उक्त कर्मियों को सख्त हिदायत दी गई है कि वे आगामी 10 दिनों में अपने घरों में शौचालय बना लें एवं उसका उपयोग करें, अन्यथा उनकी नौकरी खतरे में आ जायेगी।
घर जाकर कहेंगे कि मेरे सम्मान में
ताली बजी है तो घर वाले भी गौरवान्वित होंगे
सहायक विकास विस्तार अधिकारी श्री ललित ठोमरे ने ग्राम पिपल्याडाबी में लक्षित 346 शौचालयों में से 339 बनाते हुए 97.98 प्रतिशत कार्य पूर्ण किया है। इस पर कलेक्टर ने उन्हें खड़ा कर शाबाशी दी एवं श्री ठोमरे के सम्मान में सभी लोगों से ताली बजाने को कहा। कलेक्टर ने कहा कि इस तरह का काम अन्य लोग भी करेंगे तो उनका भी सम्मान होगा और उनके लिये तालियां बजाई जायेंगी। कलेक्टर ने कहा कि यदि आप घर जाकर कहेंगे कि मेरे सम्मान में ताली बजी है तो घर वाले भी गौरवान्वित महसूस करेंगे। कलेक्टर ने मौजूद सभी अधिकारी-कर्मचारियों से कहा कि अब यह उनके उपर है कि वे किस तरह का काम करते हैं। या तो अच्छा काम करके ताली बजवाते हैं या खराब काम कर निलम्बन झेलते हैं।
धारा 151 में कार्यवाही करने के निर्देश
कलेक्टर ने शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में ओडीएफ टीम के कार्य में बाधा उत्पन्न करने वाले व्यक्तियों के विरूद्ध नागदा एवं खाचरौद एसडीएम को धारा 151 में कार्यवाही करने के निर्देश दिये हैं। कलेक्टर को कुछ कर्मचारियों द्वारा जानकारी दी गई कि ओडीएफ दल के साथ गांव में कतिपय व्यक्तियों द्वारा अभद्र व्यवहार किया जाता है व उन्हें काम से रोका जाता है। इस पर उन्होंने कड़ी कार्यवाही करने को कहा है।
कलेक्टर ने नागदा तहसील में ग्राम पंचायत निपानिया को गोद लेते हुए इस ग्राम पंचायत को सबसे पहले ओडीएफ करने के निर्देश दिये। इसी तरह उन्होंने भीलसुड़ा, बनवाड़ा, दल्लाहेड़ा, पिपल्याडाबी, नन्दियासी, पासलोद, बेरछा, लेकोड़ा आंजना, बेड़ावन व कर्नावद में ओडीएफ टीम को कड़ी मेहनत करने को कहा है।
कुम्हारवाड़ी में प्रधानमंत्री आवास की आदर्श कॉलोनी बनेगी
प्रधानमंत्री आवास योजना के अन्तर्गत खाचरौद जनपद के ग्राम कुम्हारवाड़ी में 40 से अधिक आवास स्वीकृत हुए हैं। इन आवासों की एक ही स्थान पर कॉलोनी विकसित कर इसे आदर्श कॉलोनी बनाने के निर्देश कलेक्टर द्वारा ‍दिये गये। इसी के साथ कलेक्टर ने ग्राम रोजगार सहायकों को 181 के प्रकरण एल-1 लेवल पर ही तत्काल निपटाने के निर्देश दिये हैं। इसी तरह उन्होंने खाचरौद जनपद में सामाजिक सुरक्षा पेंशन में आधार सिडिंग शत-प्रतिशत करने को कहा है।
Share on Google Plus

About Eye Tech News

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.
    Blogger Comment
    Facebook Comment