दिव्यांगों को आत्मनिर्भर बनाने के लिये सरकार दृढ़ संकल्पित । सांसद द्वारा 22 दिव्यांगों को बैटरीचलित ट्रायसिकल भेंट किये गये

उज्जैन । कोठी रोड स्थित सांसद निवास पर सोमवार को लोकसभा सांसद उज्जैन-आलोट संसदीय क्षेत्र प्रो.चिन्तामणि मालवीय द्वारा दिव्यांग बन्धु व भगिनियों को समाज की मुख्य धारा में लाने और उन्हें आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्य से बैटरीचलित ट्रायसिकल वाहन भेंट किये गये। सांसद श्री मालवीय ने अपने उद्बोधन में कहा कि दिव्यांगों को आत्मनिर्भर बनाने के लिये सरकार दृढ़ संकल्पित है। पूर्व में भी दिव्यांगों के लिये ऐसे कई कार्यक्रम आयोजित किये गये, परन्तु पहली बार 22 बैटरीचलित ट्रायसिकल उन्हें वितरित की जा रही है। उन्होंने कहा कि केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा दिव्यांगों के उत्थान के लिये बहुत सारी योजनाएं संचालित की जा रही हैं। सभी जनप्रतिनिधियों द्वारा दिव्यांगों को हरसंभव सहायता प्रदाय की जायेगी। हमारी पूरी संवेदना दिव्यांगों के साथ है। भविष्य में 10 अतिरिक्त ट्रायसिकल भी दिव्यांगों को प्रदाय करने की योजना है। इसके अतिरिक्त अन्य उपकरण व किट भी उन्हें प्रदाय किये जायेंगे।
उल्लेखनीय है कि उक्त कार्यक्रम में दिव्यांगों को सांसद निधि एवं केन्द्र सरकार की एडिप योजना की संयुक्त निधि से बैटरीचलित ट्रायसिकल वितरित की गई। केन्द्र सरकार की योजना के अन्तर्गत इस कार्य में विशेष सहयोग के लिये केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री श्री थावरचन्द गेहलोत का सांसद श्री मालवीय ने आभार भी व्यक्त किया। ऐसे दिव्यांग, जिनकी नि:शक्तता 80 प्रतिशत से अधिक है, उन्हें उक्त ट्रायसिकल वितरित की गई। भारतीय कृत्रिम अंग निर्माण निगम जबलपुर शाखा के क्षेत्रीय अधिकारी श्री आरएस दास ने जानकारी दी कि उक्त ट्रायसिकल छह घंटे में पूर्ण रूप से चार्ज की जा सकती है तथा एक बार चार्ज होने पर 40 किलो मीटर तक उसे चलाया जा सकता है। इससे हाथ से चलाने वाली सायकल की अपेक्षा में न के बराबर परिश्रम की आवश्यकता होती है। इसका संचालन बेहद सरल है और उपयोगकर्ताओं में इसका बहुत अच्छा प्रतिसाद देखने को मिला है। इसके उपयोग से दिव्यांगों को काफी सुगमता से कहीं भी आने-जाने में सहायता मिलती है।
दिव्यांगों को वितरित बैटरीचलित ट्रायसिकल की कीमत में 12 हजार रूपये सांसद निधि से व 25 हजार रूपये केन्द्र सरकार के अंश से राशि का योगदान है। कार्यक्रम में जिन्हें ट्रायसिकल वितरित की गई, उनमें सुमित, जमनाबाई, आरिफ, मुकेश, भरत, देवीलाल, नवीन, बद्रीलाल, मोहम्मद याकूब, हुसैन खां, अनिल, राजकुमार, मदनलाल, विक्रम, कमल, भगवानसिंह, कैलाश, कोमल, मोहन, सुभाषचन्द्र, महाकाल व तेजूलाल शामिल थे। कार्यक्रम में मौजूद अतिथियों द्वारा उन्हें ट्रायसिकल की चाबी वितरित की गई। इस दौरान श्री श्याम बंसल, श्री इकबालसिंह गांधी, श्री वीडी शर्मा, सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण विभाग के संयुक्त संचालक श्री महेश पाण्डेय मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन श्री विवेक जोशी ने किया और अन्त में आभार श्री हेमन्त सेन ने व्यक्त किया।
Share on Google Plus

About Eye Tech News

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.
    Blogger Comment
    Facebook Comment