हत्याकाण्ड का राजफश

चित्तौड़गढ़- आज  दिनांक 29.01.2016 को सुबह पुलिस थाना चन्देरिया क्षै़त्र के सरहद भटवाड़ा खुर्द  की सीमा में एक अज्ञात व्यक्ति की लाश मिली थी। जिसकी पहचान श्री दीपचन्द पिता रतन लाल तेली निवासी कांटी थाना गंगरार के रूप में होकर अज्ञात व्यक्ति के विरूद्व हत्या का प्रकरण दर्ज किया गया। प्रकरण में मृतक की हत्या के कारणो के बारे में जानकारी कर अज्ञात मुल्जिमान का पता लगाने के लिये श्रीमान् पुलिस अधीक्षक महोदय जिला चित्तौडगढ श्री प्रसन्न कुमार खमेसरा के निर्देषन में श्रीमान् अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मुख्यालय चित्तौडगढ श्री राजनदुष्यन्त तथा श्रीमान् वृताधिकारी गंगरार श्री राजेन्द्र कुमार औझा के सुपर विजन में अलग-अलग पुलिस दल गठित किये गये। गठित पुलिस दल के द्वारा आधुनिक तकनिको तथा मुखबिर तन्त्र के माघ्यम से गहन व सत्त प्रयास करते हुए सुचना संकलित की तो ज्ञात आया की मृतक दीपचन्द द्वारा पुर्व में गांव कांटी में बिजली की डिप्पी चोरी होने पर गांव के ही श्री पप्पु लाल पिता हिरा लाल लौहार निवासी कांटी के द्वारा चोरी करने की बात कही थी। जिस पर  गांव  वालो ने मिल बैठ कर पप्पु लौहार के उपर जुर्माना किया था। जिस रंजिस के चलते दिनांक 28.01.2017 को पप्पु लौहार द्वारा उसके कुवे पर मीट व दारू की पार्टी रखी थी। जिसमे पप्पु लौहार व उसके मौसी का लडका षंकर लाल पिता भैरू लाल लौहार निवासी बडोदिया व उसके दोस्त श्री पप्पु पिता नारायण चमार निवासी जगपुरा, बाबु पिता नारायण आर्चाय निवासी कांटी, राजु पिता गोर्धन पुर्बिया गाडरी निवासी बडोदिया तथा दीपचन्द पिता रतन लाल तेली निवासी कांटी ने पार्टी की कुछ समय बाद पप्पु के मौसी का लडका षंकर व दो दोस्त बाबु आर्चाय व राजु पुर्बिया गायरी तीनो खाना खाकर कुवे से चले गये। बाद में कुवे पर पप्पु लौहार, दीपचन्द व पप्पु चमार रहे। उन तीनो के बीच दारू के नशे आपस में कहा सुनी होने से तथा पुर्व में हुई डिप्पी चोरी के ईल्जाम की रंजिस को लेकर पप्पु लौहार व पप्पु चमार द्वारा दीपचन्द को दोनो ने पकड कर नीचे गिरा कर दोनो ने दीपचन्द का गला दबा कर हत्या कर दी। बाद में पप्पु लौहार ने पप्पु चमार को बताया की इसका गला काट देते है फिर दातली से दीपचन्द का दोनो ने गला रेत कर दीपचन्द की लाश को पप्पु लौहार की मोटर साईकिल पर पप्पु लौहार व पप्पु चमार ने ले जाकर सरहद भटवाडा खुर्द जोहेडा बावजी के स्थान के पास डाल कर वापस पप्पु लौहार व पप्पु चमार दोनो पप्पु लौहार की मोटर साईकिल लेकर कुवे पर आये। जहां पर दीप चन्द की मोटर साईकिल पडी हुई थी। जिसको पप्पु चमार द्वारा चला कर दीपचन्द की लाश के पास खडी कर दी तथा चाबी मोटर साईकिल में ही रहने दी। दोनो पप्पु लौहार की मोटर साईकिल से वापस आ गये। प्राथमिक पुछताछ में दोनो आरोपीयो के द्वारा घटना कारीत करना स्वीकार किया। दोनो आरोपीयो को आज दिनांक 31.01.2017 को गिरफ्तार कर गहन पुछताछ व अनुसंधान जारी है। गठित पुलिस दल थानाधिकारी चन्देरिया श्री उदय सिंह पु.नि. बुघाराम उ.नि., सुश्री कल्पना उ.नि.श्री विमल कुमार स.उ.नि., श्री सुभाष चन्द्र स.उ.नि., श्री धर्मेन्द्र सिंह हेड कानि.411, कानि. फतेह सिंह 716, रधुवीर सिंह 1382, पुष्पेन्द्र सिंह 150, सत्यवीर सिंह 240,धर्मपाल सिंह 385, भैरू लाल 709, कमलेन्द्र सिंह 113 , श्री सुनिल कुमार 566 थाना चन्देरिया तथा देवेन्द्र सिंह उ.नि.बालमुकन्द कानि.618 राम सिंह कानि.752 थाना गंगरार का इस हत्या काण्ड के खुलासे में महत्व पुर्ण योगदान रहा है। 


Share on Google Plus

About Eye Tech News

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.
    Blogger Comment
    Facebook Comment