स्वच्छ भारत मिशन के तहत संभागीय समीक्षा बैठक एवं प्रशिक्षण सम्पन्न । ऑनलाइन भुगतान प्रक्रिया की जानकारी दी गई, समस्याओं का समाधान किया

उज्जैन । स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के तहत एक संभागीय समीक्षा बैठक एवं प्रशिक्षण मेला कार्यालय में बुधवार को आयोजित हुआ। इस अवसर पर संयुक्त आयुक्त स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण, राज्य स्वच्छता मिशन भोपाल श्री अजीत तिवारी, तकनीकी विशेषज्ञ श्री अरविन्द श्रीवास्तव तथा राज्य कार्यक्रम अधिकारी राज्य स्वच्छता मिशन श्रीमती हेमवती वर्मन द्वारा स्वच्छ भारत मिशन के तहत निर्मित किये जा रहे शौचालयों एवं अन्य कार्यों के ऑनलाइन भुगतान की प्रक्रिया एवं इस दौरान आने वाली विभिन्न तकनीकी समस्याओं का समाधान करते हुए मार्गदर्शन दिया गया। कलेक्टर उज्जैन श्री संकेत भोंडवे, प्रभारी मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री एसएस रावत, जिला स्वच्छता समन्वयक श्रीमती कविता उपाध्याय, संभाग की जनपदों के मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जिलों के स्वच्छता समन्वयकगण तथा विकास खण्ड समन्वयकगण उपस्थित थे।
इस बैठक सह प्रशिक्षण में संभाग के सभी विकास खण्डों को ओडीएफ करने के लिये तैयार की गई रणनीति पर चर्चा की गई। ओडीएफ की निरन्तरता बनाये रखने के लिये मार्गदर्शन एवं दिशा-निर्देश दिये गये। स्वच्छ भारत मिशन के तहत शौचालय निर्माण, उनकी मांग, हितग्राहियों की अद्यतन स्थिति पर चर्चा की गई। बताया गया कि तकनीकी विशेषज्ञ द्वारा विभिन्न समस्याओं पर वाट्सएप कॉमन ग्रुप द्वारा भी मार्गदर्शन दिया जाता है, इसलिये वाट्सएप पर दी जाने वाली जानकारियों का गहन अध्ययन करते रहें। बैठक में स्वच्छ एमपी पोर्टल पर दी जाने वाली जानकारियां प्रक्रियागत समस्याओं तथा विभिन्न प्रविष्टियों पर तकनीकी मार्गदर्शन दिया गया। हितग्राही की जानकारी, लॉगइन पासवर्ड समस्याओं का समाधान किया गया। डिलीटेशन प्रोसेस, पंजीयन, मैपिंग की विस्तार से जानकारी दी गई।
बैठक में निर्देश दिये गये कि पोर्टल तथा कम्प्यूटर पर कार्य करने के पूर्व बेसिक जानकारी अपडेट कर ली जाये, जिससे कार्य करने में दिक्कत नहीं आयेगी। बताया गया कि उज्जैन जिले में इस सम्बन्ध में बेहतर प्रबंधन किया गया है। बेसवर्क पर मेहनत की गई है। शौचालयों के निर्माण में भौतिक सत्यापन की प्रक्रिया पर जानकारी देते हुए पोर्टल पर समाविष्ट करने के बारे में तकनीकी जानकारी से अवगत कराया गया। खासतौर पर परिवारों के पलायन, डुप्लीकेशन, परिवारों की छद्म स्थिति के भौतिक सत्यापन के सम्बन्ध में मार्गदर्शन दिया गया।
कलेक्टर श्री संकेत भोंडवे ने कहा कि मिशन के तहत कार्य के बाधारहित वातावरण के लिये मूलभूत जरूरतों की पूर्ति की जाना अत्यन्त आवश्यक है। कम्प्यूटर पर सतत कार्य के लिये ब्रॉडबैण्ड लाइन इस्तेमाल की जाये। प्रत्येक जनपद में ब्रॉडबैण्ड लगवाये जायें। उन्होंने समग्र स्वच्छता मिशन में प्रेरकों की भूमिका महत्वपूर्ण निरूपित करते हुए कहा कि उनके मानदेय का भुगतान समय-सीमा में किया जाना अत्यन्त जरूरी है। किसी भी स्थिति में उनका मानदेय भुगतान लम्बित नहीं रखें। उन्होंने कार्य संधारण में लगने वाली राशि के लिये शासन द्वारा निर्धारित मदों की जानकारी देते हुए कहा कि सामाजिक न्याय विभाग की पेंशन योजना मद, ई-गवर्नेंस तथा स्वच्छ भारत मिशन के मद से राशि प्राप्त की जा सकती है।
3, 6 एवं 7 फरवरी को दिव्यांग परिचय सम्मेलन
उज्जैन जिले में प्रशासन द्वारा संचालित दिव्यांग परिचय सम्मेलनों का जिक्र करते हुए कलेक्टर श्री संकेत भोंडवे ने बताया कि आगामी 3 फरवरी को जिले के बड़नगर में दिव्यांग परिचय सम्मेलन आयोजित किया जा रहा है। इसमें रतलाम जिले के दिव्यांग जोड़ों को सम्मिलित करने के लिये रतलाम जनपद सीईओ पहल करें। इसके अलावा 6 फरवरी को महिदपुर तथा तराना में दिव्यांग जोड़ों के परिचय सम्मेलन होंगे। इसमें पड़ोसी आगर तथा शाजापुर जिलों के दिव्यांग जोड़े सम्मिलित किये जा सकते हैं। आगामी 7 फरवरी को खाचरौद-नागदा में परिचय सम्मेलन होंगे। इस सम्मेलन में भी रतलाम जिले के जोड़े सम्मिलित किये जा सकते हैं।
Share on Google Plus

About Eye Tech News

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.
    Blogger Comment
    Facebook Comment